शिर्डी के साँई बाबा जी की समाधी और बूटी वाड़ा मंदिर में दर्शनों एंव आरतियों का समय....

"ॐ श्री साँई राम जी
समाधी मंदिर के रोज़ाना के कार्यक्रम

मंदिर के कपाट खुलने का समय प्रात: 4:00 बजे

कांकड़ आरती प्रात: 4:30 बजे

मंगल स्नान प्रात: 5:00 बजे
छोटी आरती प्रात: 5:40 बजे

दर्शन प्रारम्भ प्रात: 6:00 बजे
अभिषेक प्रात: 9:00 बजे
मध्यान आरती दोपहर: 12:00 बजे
धूप आरती साँयकाल: 7:00 बजे
शेज आरती रात्री काल: 10:30 बजे

************************************

निर्देशित आरतियों के समय से आधा घंटा पह्ले से ले कर आधा घंटा बाद तक दर्शनों की कतारे रोक ली जाती है। यदि आप दर्शनों के लिये जा रहे है तो इन समयों को ध्यान में रखें।

************************************

Saturday, 4 February 2012

साईं ने दिये जो ग्यारह वचन

ॐ सांई राम
 साईं ने दिये जो ग्यारह वचन वो, तू पढ़ ले तर जायेगा
इन वचनों को समझ सके तो, चैन तू मनवा पायेगा
साईं ने दिये जो ग्यारह वचन वो, तू पढ़ ले तर जायेगा

OM SHREE HANUMANTE NAMAH

ॐ सांई राम


Sri Hanuman was born of Anjani from Pavana, the wind-god. He was named Hanuman after the name of the city of Hanumpur over which his maternal uncle Parti Surya ruled. Hanuman's body was hard as a stone. So Anjani named him Vajranga. He is also known by the names "Mahavir" or mightiest hero (because he exhibited several heroic feats), Balibima and Maruti.

Friday, 3 February 2012

कलयुग में अवतार लेके आये मेरे साईं जी

ॐ सांई राम

कलयुग में अवतार लेके आये मेरे साईं जी
दुनिया का उद्धार करने आये मेरे साईं जी

सतयुग में ये नरसिंह थे और त्रेता में श्री राम
द्वापर में ये कृष्ण भये कलयुग में साईं भगवान्
इस युग का आधार बनके आये मेरे साईं जी
राम, कृष्ण का सार लेके आये मेरे साईं जी
कलयुग में अवतार लेके आये मेरे साईं जी
दुनिया का उद्धार करने आये मेरे साईं जी

साईं जी साईं जी मेरे प्यारे साईं जी
साईं जी साईं जी मेरे प्यारे साईं जी

कलयुग में अवतार लिया तो पहुंचे शिर्डी धाम
सबका मालिक एक है भेजा दुनिया को पैग़ाम
दर्शन दे दो अब तो साईं अखियाँ क्यों तरसाई रे
दर्शन करने सारी दुनिया तुमरे दर पे आई रे
कलयुग में अवतार लेके आये मेरे साईं जी
दुनिया का उद्धार करने आये मेरे साईं जी

साईं जी साईं जी मेरे प्यारे साईं जी
साईं जी साईं जी मेरे प्यारे साईं जी

●▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●
-: आज का साईं सन्देश :-

वे दोनों मस्जिद गये,
बाबा बैठे आय |
साईं कहते प्रेम से,
बहस न करना भाय ||

वाड़े साठे बैठकर,
काहे बहस कराय |
बात कहे हेमांड जो,
मुझको दो समझाय ||
●▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●

Thursday, 2 February 2012

गुरुदेव मेरे गुरुदेव मेरे

ॐ साईं राम

गुरुदेव मेरे गुरुदेव मेरे ,सब रंग तेरे रंगरेज तेरे
मुझ दीन के घर जब आओगे ,स्वागत में पलक बिछाऊंगा

अँसुवन जल से पग धोऊंगा ,और धो धो कर पी जाऊँगा
तू लेकर अपनी शरण मुझे ,फिर चाहे जिस रंग में रंग दे
रंगरेज मेरे सब रंग तेरे ,गुरुदेव मेरे गुरुदेव मेरे
जाने कितने दिन बाद मैने ,यह अपना भवन बुहारा है
तुमको कोई भी कष्ट न हो ,इस तरह से इसे संवारा है
इच्छा है मेरी यही प्रभु ,तुम मुझको अब तो अपना लो
गुरुदेव मेरे गुरुदेव मेरे , सब रंग तेरे रंगरेज मेरे
तुम सारे जग के मालिक हो ,तुम तो घट घट के वासी हो
तुमको ये कहाँ पसंद ,किसी के चेहरे चढ़ी उदासी हो
हे देव अगर संभव हो तो ,इन आंखो को दर्शन दे दो
तू ले कर अपनी शरण मुझे ,फिर चाहे जिस रंग में रंग दो
गुरु देव मेरे सब रंग तेरे रंगरेज मेरे सब रंग तेरे 
 
●▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●
-: आज का साईं सन्देश :-
ठहरे शिर्डी पन्त जी,
घर साठे का होय |
बाबा साहब भी रहें,
चर्चा करते दोय ||

गुरु काहे को चाहिये,
मेरे मन का भाय |
बिना गुरु जीवन नहीं,
बालाजी बतलाय ||

●▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●

श्री साई सच्चरित्र - Chapter 43 & 44


ॐ सांई राम

आप सभी को शिर्डी के साईं बाबा ग्रुप की और से साईं-वार की हार्दिक शुभ कामनाएं , हम प्रत्येक साईं-वार के दिन आप के समक्ष बाबा जी की जीवनी पर आधारित श्री साईं सच्चित्र का एक अध्याय प्रस्तुत करने के लिए श्री साईं जी से अनुमति चाहते है , हमें आशा है की हमारा यह कदम घर घर तक श्री साईं सच्चित्र का सन्देश पंहुचा कर हमें सुख और शान्ति का अनुभव करवाएगा, किसी भी प्रकार की त्रुटी के लिए हम सर्वप्रथम श्री साईं चरणों में क्षमा याचना करते है...

श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 43 & 44 - महासमाधि की ओर
---------------------------------------

Wednesday, 1 February 2012

एक वक़्त आयेगा ऐसा सब धरा रह जायेगा


ॐ साईं राम

एक वक़्त आयेगा ऐसा सब धरा रह जायेगा
देखता तू क्या है इक दिन देखता रह जायेगा

रब से ग़फलत छोड़ कब से है अजब मस्ती में तू
आने वाली है क़यामत बैठ जा कश्ती में तू
साईं के बन्दों का बस इक काफला रह जायेगा
एक वक़्त आयेगा ऐसा सब धरा रह जायेगा

वो है इक गहरा समंदर तू मैं मिट्टी की लकीर
तूने गर उसको न पाया वो अमीर और तू फकीर
तेरे उसके दरमियाँ इक फासला रह जायेगा
एक वक़्त आयेगा ऐसा सब धरा रह जायेगा

उसके क़दमों से लिपट जा जिंदगी मिल जायेगी
रास्ते में है अँधेरा रौशनी मिल जायेगी
अक्ल वाला चल पड़ेगा सरफिरा रह जायेगा
एक वक़्त आयेगा ऐसा सब धरा रह जायेगा

रात दिन की इस तपस्या को भी क्या समझेगा तू
ना-समझ बन कर अगर ख़ुद को खुदा समझेगा तू
ढूँढने निकला है जिसको ढूँढता रह जायेगा
एक वक़्त आयेगा ऐसा सब धरा रह जायेगा

तू फ़क़त साईं का बन जिसका कोई मज़हब नहीं
जिसने अपने चाहने वालों को चाहा कब नहीं
आसरा रख वर्ना तू बे-आसरा रह जायेगा
एक वक़्त आयेगा ऐसा सब धरा रह जायेगा

एक वक़्त आयेगा ऐसा सब धरा रह जायेगा
देखता तू क्या है इक दिन देखता रह जायेगा


●▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●


-: आज का साईं सन्देश :-

जो साईं दर्शन करे,
पाप कर्म धुल जाय |
सदविचार मन में उठे,
बाबा भक्ति पाय ||

पुण्य किये पिछले जनम,
दर्शन उसको होय |
देख नज़र भर साईं को.
जग साईं मय होय ||

●▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●

Tuesday, 31 January 2012

कैसी सोच में डूबे हो क्यों घबराए हो आप

ॐ साईं राम


कैसी सोच में डूबे हो क्यों घबराए हो आप
सुनो साईं के जाप से धुल जाते हैं पाप

Monday, 30 January 2012

हिन्दू और मुस्लिम का हमदम है शिर्डी में

ॐ साईं राम

हिन्दू और मुस्लिम का हमदम है शिर्डी में
काबा और काशी का संगम है शिर्डी में

मंदिर की दीवारों में मस्जिद की मीनारों में
साईं का नज़ारा है देखो चाँद सितारों में
जन्नत की बहारों का मौसम है शिर्डी में
काबा और काशी का संगम है शिर्डी में
कोई राम साईं कहता है कोई अल्लाह साईं कहता है
कोई कुछ भी चाहे कहता है वो सबके दिल में रहता है
है राम जन्म की धूम मोहर्रम है शिर्डी में
काबा और काशी का संगम है शिर्डी में
साईं का करिश्मा है जब होठों को हिलाते हैं
मस्जिद में चिरागों को पानी से जलाते हैं
हर रोज़ दिवाली का वो आलम है शिर्डी में
काबा और काशी का संगम है शिर्डी में
इक बार जो भी जाता है चलकर इंसान शिर्डी में
इंसान से वो मिलता है भगवान् साईं शिर्डी में
अब हर कोई कहता है क्या कम है शिर्डी में
काबा और काशी का संगम है शिर्डी में
हिन्दू और मुस्लिम का हमदम है शिर्डी में
काबा और काशी का संगम है शिर्डी में
काबा और काशी का संगम है शिर्डी में
काबा और काशी का संगम है शिर्डी में
●▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●

-: आज का साईं सन्देश :-

दुविधा मेरे मन बसी,
कैसे मानूँ बात ।
पर नाना के तर्क से,
मिली मुझे सौग़ात ।।

शिर्डी जाना तह किया,
गलत रेल में बैठ ।
यवन रूप समझा गये,
सही ट्रेन में बैठ ।।
 ●▬▬▬▬▬▬▬▬▬ஜ۩۞۩ஜ▬▬▬▬▬▬▬▬▬●

Sunday, 29 January 2012

कर्मों का फल तो बन्दे तुझे भोगना पड़ेगा

ॐ साईं राम

कर्मों का फल तो बन्दे तुझे भोगना पड़ेगा
लेकिन ये साईं शक्ति कुछ दर्द कम करेगी
कुछ अपने सर पे लेगी कुछ तेरे सर रहेगा
कर्मों का फल तो बन्दे तुझे भोगना पड़ेगा

For Donation

For donation of Fund/ Food/ Clothes (New/ Used), for needy people specially leprosy patients' society and for the marriage of orphan girls, as they are totally depended on us.

For Donations, Our bank Details are as follows :

A/c - Title -Shirdi Ke Sai Baba Group

A/c. No - 200003513754 / IFSC - INDB0000036

IndusInd Bank Ltd, N - 10 / 11, Sec - 18, Noida - 201301,

Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh. INDIA.