शिर्डी के साँई बाबा जी की समाधी और बूटी वाड़ा मंदिर में दर्शनों एंव आरतियों का समय....

"ॐ श्री साँई राम जी
समाधी मंदिर के रोज़ाना के कार्यक्रम

मंदिर के कपाट खुलने का समय प्रात: 4:00 बजे

कांकड़ आरती प्रात: 4:30 बजे

मंगल स्नान प्रात: 5:00 बजे
छोटी आरती प्रात: 5:40 बजे

दर्शन प्रारम्भ प्रात: 6:00 बजे
अभिषेक प्रात: 9:00 बजे
मध्यान आरती दोपहर: 12:00 बजे
धूप आरती साँयकाल: 7:00 बजे
शेज आरती रात्री काल: 10:30 बजे

************************************

निर्देशित आरतियों के समय से आधा घंटा पह्ले से ले कर आधा घंटा बाद तक दर्शनों की कतारे रोक ली जाती है। यदि आप दर्शनों के लिये जा रहे है तो इन समयों को ध्यान में रखें।

************************************

Saturday, 5 April 2014

तेरे दर पर आने के काबिल नहीं हूँ |

ॐ साईं राम

तेरी मेहरबानी का है  बोझ इतना, अभी मैं उठाने के काबिल नहीं  हूँ |
मैं आ तो गया हूँ मगर जानता हूँ,  तेरे दर पर आने के काबिल नहीं हूँ |
ज़माने की चाहत में ख़ुद को मिटाया, तेरा नाम हरगिज़ ज़ुबां पे न लाया |
 गुन्हागार हूँ मैं ख़तावार हूँ मैं, तुम्हें मुंह दिखाने के काबिल नहीं  हूँ |


तुम पर ज़ोर नहीं कोई मेरा हम पर ज़ोर तुम्हारा है
जीवन डोरी हाथ है तेरे तू ही नचावन वाला है 
करो ऐसी मेहर जपु आठों पहर मेरे साईं 
दया बस कर देना साईं तुम्हारे खाते में नाम हमारा लिख लेना॥

Friday, 4 April 2014

Shirdi Rail Tour Packages

Shirdi Rail Tour Package
(NDR059)
04 Nights / 05 DaysStandardRs.5250/-
ComfortRs.7900/-
Shirdi Tour Package From Sachkhand Express (NDR062)03 Nights / 04 DaysStandardRs.3550/-
ComfortRs.6750/-
For online Booking visit our website www.railtourismindia.com
For Enquiry & Booking Contact:
Tourist Facilitation CenterPlatform No.16, 
Ajmeri Gate Side, New Delhi
Phone No.011-23213197, 9717641764, 9717648888
E-mail - tfcndls@irctc.com

उद्धार करो अब मेरा साँई ...

ॐ साईं राम
 


 मेरे हृदय में तुम वास करो कभी दूर न मुझसे जाना 

यह तन मन अपना सौंप तुम्हे अपना आदर्श है माना 

ज्ञान का दर्शन फैलाओ मन के मंदिर में सवेरा 

उद्धार करो अब मेरा उद्धार करो अब मेरा

तेरे रूप का वर्णन करना जियो सूरज को दीप दिखाना 

इन शुभ चरणों के सिवा नहीं जग में कोई और ठिकाना 

मुझे अपने चरणों में रख लो रहूँ बन के दास मैं तेरा 

उद्धार करो अब मेरा उद्धार करो अब मेरा

Thursday, 3 April 2014

श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 21

ॐ सांई राम
**************************

आप सभी को शिर्डी के साँई बाबा ग्रुप की ओर से साईं-वार की हार्दिक शुभ कामनाएं, हम प्रत्येक साईं-वार के दिन आप के समक्ष बाबा जी की जीवनी पर आधारित श्री साईं सच्चित्र का एक अध्याय प्रस्तुत करने के लिए श्री साईं जी से अनुमति चाहते है 

हमें आशा है की हमारा यह कदम घर घर तक श्री साईं सच्चित्र का सन्देश पंहुचा कर हमें सुख और शान्ति का अनुभव करवाएगा
किसी भी प्रकार की त्रुटी के लिए हम सर्वप्रथम श्री साईं चरणों में क्षमा याचना करते है



श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 21
-------------------------------------------------------------------------------------------------
श्री. व्ही. एच. ठाकुर, अनंतराव पाटणकर और पंढ़रपुर के वकील की कथाएँ
-------------------------------------------------------------------------------------------------

Wednesday, 2 April 2014

साईं राम जी हर प्राणी में वास करते है ...

ॐ सांई राम

*************************


एक गांव मे एक मंदिर मे एक पुजारी था और बो बड़े नियम से भगवान की पूजा करता था और उसको या गांव वालो को कोई भी परेशानी होती थी तो बो कहता था धैर्य रखो भगवान सब ठीक कर देगा और सचमुच परेशानिया ठीक हो जाती थी .......एक बार गांव मे बहुत जोर की बाढ़ आ गयी और सब डूबने लगा तो लोग पुजारी के पास गए तो उसने कहा की धैर्य रखो सब ठीक हो जायेगा मैं भगवान की इतनी पूजा करता हूँ सब ठीक हो जायेगा ,लेकिन पानी बढ़ने लगा और गांव वाले भागने लगे और पुजारी से बोले की अब तो पानी मंदिर मे भी आने लगा हें आप भी निकल चलो यहाँ से लेकिन पुजारी ने फिर बही कहा की मैं इतनी पूजा करता हूँ तो मेरा कुछ नहीं बिगड़ेगा तुम लोग जाओ मैं नहीं जाऊँगा.....फिर कुछ दिनों मे पानी और बढ़ा और मंदिर मे घुस गया तो पुजारी मंदिर पर चढ गया ...फिर उधर से एक नाव आई और उसमे कुछ बुजुर्ग लोगो ने पुजारी से कहा की सब लोग भाग गए हें और यह आखिरी नाव हें आप भी आ जाओ इसमें क्योकि पानी और बढ़ेगा ऐसा सरकार का कहना हें नहीं तो आप डूब जाओगे तो पुजारी ने फिर कहा की मेरा कुछ नहीं होगा क्योकि मैने इतनी पूजा करी हें जिंदगी भर तो भगवान मेरी मदद करेगे और फिर बो नाव भी चली गयी ......कुछ दिनों मे और पानी और बढ़ा तो पुजारी मंदिर मे सबसे ऊपर लटक गया और पानी जब उसकी नाक तक आ गया तो बो त्रिशूल पर लटक गया और भगवान की प्रार्थना करने लगा की भगवान बचाओ मैने आपकी बहुत पूजा की हें तो कुछ देर मे एक सेना का हेलिकॉप्टर आ गया और उसमे से सैनिको ने लटक कर हाथ बढ़ाया और कहा की हाथ पकड़ लो किन्तु फिर बो पुजारी उनसे बोला की मैने जिंदगी भर भगवान की पूजा करी हें मेरा कुछ नहीं होगा और उसने किसी तरह हाथ नहीं पकड़ा और परेशान होकर सैनिक चले गए ...फिर थोड़ी देर मे पानी और बढ़ा और उसकी नाक मे घुस गया और पुजारी मर गया.......


मरने के बाद पुजारी स्वर्ग मे गया और जैसे ही उसे भगवान जी दिखे तो बो चिल्लाने लगा की जिंदगी भर मैने इतनी इमानदारी से आप लोगो की पूजा करी फिर भी आप लोगो ने मेरी मदद नहीं की ...तो भगवान जी बोले की अरे पुजारी जी जब पहली बार जो लोग आप से चलने को कह रहे थे तो बो कौन था अरे बो मैं ही तो था ...फिर नाव मे जो बुजुर्ग आप से चलने को कह रहे थे बो कौन था बो मैं ही तो था और फिर बाद मे हेलिकॉप्टर मे जो सैनिक आप को हाथ दे कर कह रहा था बो कौन था बो मैं ही तो था किन्तु आप मुंझे उस रूप मे पहचान ही नहीं पाए तो मैं क्या करू ..... अरे मैं जब किसी मनुष्य की मदद करूँगा तो मनुष्य के रूप मे ही तो करूँगा चाहे बो रूप डॉक्टर का हो या गुरु का हो या किसी अच्छे इंसान का या माँ , बाप भाई या बहन का या दोस्त का लेकिन उस रूप मे आप लोग मुंझे पहचान ही नहीं पाते हो तो मैं क्या करू ..... मेरी बाणी को पहचानने के लिए ध्यान बहुत जरूरी हें और योग भी तभी इंसान मेरी बाणी को इंसान मे भी पहचान जायेगा क्योकि सच्चे आदमियो मे मेरी ही बाणी होती हें

Tuesday, 1 April 2014

मेरा एक साथी है.. बड़ा ही भोला भाला है...

ॐ साईं राम
**************************


मेरा एक साथी हैं
बड़ा ही भोला भाला है 

मिले न कोई उस जैसा
वो सारे जग से निराला है 

जब जब दिल यह उदास होता है 
मेरा शिर्डी वाला मेरे पास होता है 

जब जब मुझ पे कोई संकट आता है 
मेरा साईं बाबा दौड़ा दौड़ा आता है

वो रहमत वाला है 
वो शिर्डी वाला है
पानी से दियें जलाता है
वो सब को भाता है

जब जब कोई रोगी शिर्डी को जाता है
बाबा की उदी से निरोगी हो जाता है

 जब जब दिल यह उदास होता है
मेरा साईं बाबा मेरे पास होता है

हिन्दू को अल्लाह मालिक
मुस्लिम को बोले राम राम 
साठ बरस पत्थर पे बैठ कर
सबके बनायें बिगड़े काम

मेरा एक साथी हैं
बड़ा ही भोला भाला है 

हाथ कमण्डल, कांधे झोली 
सारे जग से मीठी बोली

मिले न कोई उस जैसा
वो सारे जग से निराला है

जब जब दिल यह उदास होता है 
मेरा शिर्डी वाला मेरे पास होता है 

Monday, 31 March 2014

श्री साँईं राम जी की पालकी शोभायात्रा का निमंत्रण

आओ साँईं

मैने लिख दी तेरे नाम अर्ज़ी....

ॐ साईं राम
**************************
**************************

आदरणीय साईंबाबा जी,

                                 कैसे है आप . आप की कृपा से हम कुशल मंगल है . आज दिल करा आपको पत्र लिखने का . बाबा आपका मेरे जीवन में आना मेरी खुशनसीबी है . आप मेरे जीवन का वो अनमोल रतन हो जिसे में अपनी आँखों में और दिल में छुपा कर रखना चाहती हूँ . आपकी महानता , प्यार और विश्वास मेरी आत्मा में बसते है . आप मेरा स्वाभिमान हो . आपकी करूणा , दया , आशीर्वाद , संतोष , सबर मेरे जीवन का धन है . आपने अपने चरण कमलो में जगह देकर मेरा जीवन तार - तार कर दिया . आपकी दृष्टि मेरे मन को छु जाती है . आपका ममता भरा आचल मेरे जीवन की तीखी धूप को ठंडी छाव देता है . श्रद्धा और सबुरी का पाठ मुझे सही राह दिखाता है . साईंसत्चरित्र की लीलाए आपके होने का अहसास दिलाती है . कहते है भगवान को पाना आसान नहीं पर मेरा बाबा तो इतना कोमल और नरम है मेरी एक ही आवाज़ से दोड़े चले आते है . बाबा मुझे हमेशा अपनी छाया में रखना . मुझे इस संसार रुपी जाल से बचाकर रखना . हमेशा अपने आशीर्वाद की चादर मुझ पर मेरे परिवार पर और समर्पण परिवार पर बना के रखना | आपके चरणों में मेरा कोटि कोटि प्रणाम ...
                   आपकी पुत्री और पुत्र

बोलो सच्चिदानंद सद्गुरु साईंनाथ महाराज की जय !

Sunday, 30 March 2014

Invitation for all to join us for Shree Sai Palki shobha yatra

Shirdi Ke Sai Baba Group is inviting you all to join us at the auspicious occasion of Shree Ram Navami utsav on dated 8th April 2014, we are celebrating with Shree Sai Palki shobha yatra starts at 9:00 am followed by bhandara sewa at 12:00 noon.

You are requested to be with us on this big occasion and requesting you to come with family and friends.

ॐ श्री साँईं राम जी

Venue: Sanatan Dharm Mandir,  Sector 47, Noida.

एक अरदास साँई जी से....

ॐ साईं राम


 सदा सदा साईं पिता मन में करो निवास,

सच्चे हृदय से करूँ तुम से यह अरदास |

कारण करता आप हो सब कुछ तुमरी दात,

साईं भरोसे मैं रहूँ तुम ही हो पितु मातु  |

विषयों में मैं लीन हूँ पापों का नहीं अंत,

फिर भी मैं तो तेरा हूँ राख लियो भगवंत |

राख लियो हे राखन हारा साईं ग़रीब नवाज़,

तुझ बिन तेरे बाल के कौन सवारे काज |

दया करो दया करो दया करो मेरे साईं,

तेरे सिवा मेरा कौन है बाबा इस जग माहीं |

मैं तो कुछ भी नहीं हूँ सब कुछ तुम हो नाथ,

बच्चों के सर्वस्व प्रभु तुम सदा रहो मेरे साथ |

For Donation

For donation of Fund/ Food/ Clothes (New/ Used), for needy people specially leprosy patients' society and for the marriage of orphan girls, as they are totally depended on us.

For Donations, Our bank Details are as follows :

A/c - Title -Shirdi Ke Sai Baba Group

A/c. No - 200003513754 / IFSC - INDB0000036

IndusInd Bank Ltd, N - 10 / 11, Sec - 18, Noida - 201301,

Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh. INDIA.