शिर्डी के साँई बाबा जी की समाधी और बूटी वाड़ा मंदिर में दर्शनों एंव आरतियों का समय....

"ॐ श्री साँई राम जी
समाधी मंदिर के रोज़ाना के कार्यक्रम

मंदिर के कपाट खुलने का समय प्रात: 4:00 बजे

कांकड़ आरती प्रात: 4:30 बजे

मंगल स्नान प्रात: 5:00 बजे
छोटी आरती प्रात: 5:40 बजे

दर्शन प्रारम्भ प्रात: 6:00 बजे
अभिषेक प्रात: 9:00 बजे
मध्यान आरती दोपहर: 12:00 बजे
धूप आरती साँयकाल: 7:00 बजे
शेज आरती रात्री काल: 10:30 बजे

************************************

निर्देशित आरतियों के समय से आधा घंटा पह्ले से ले कर आधा घंटा बाद तक दर्शनों की कतारे रोक ली जाती है। यदि आप दर्शनों के लिये जा रहे है तो इन समयों को ध्यान में रखें।

************************************

Saturday, 7 April 2012

Om Sai Ram to all..

Om Sai Ram,

I LOVE YOU- baba ko kaho,

I MISS YOU- baba ki shikshao ko kaho,

I BELIEVE YOU- shri sai satcharitr ko kaho,

I TRUST YOU- baba se ki hui prarthnao ko kaho,

I HATE YOU- khud ke ander chupi hui buraiyon ko kaho.

Yadi hum insabko apnayengey to baba ke bahut kareeb pahuch jayengey..

अज मेरे घर साईं आया है



ॐ सांई राम



अज मेरे घर लगियां ने रौनकां
मै ताँ साईं दा दर्शन पाया है
आओ मिल के नाचिये गाईये
अज मेरे घर साईं आया है

Friday, 6 April 2012

जो है शिर्डी के कण कण में

ॐ सांई राम


भवदधि तारक दीन सहाई, साईं का सुमिरन है सुखदाई
जय साईं राम ॐ जय साईं श्याम, मंगलमूर्ति सकल सुख धाम

Hanuman Jayanti is being celebrated today

ॐ सांई राम



On Chaitra Shukla Purnima, i.e., the full moon day of March-April, Hanuman Jayanti is celebrated all over the country. The monkey-God Hanuman is worshiped everywhere in India either alone or together with Lord Rama. Hanuman temples dot the entire length and breath of the country. Every temple dedicated to Rama invariably has an idol of Hanuman. In other temples also Hanuman is found installed.

Thursday, 5 April 2012

गुरु-स्मरण का महत्व


ॐ सांई राम
गुरु-स्मरण का महत्व

गुरु की अलोक-रश्मि सबमे है ! उनका स्मरण करने से व्यक्ति उनके प्रभा-मंडल से जुड़ता है!

श्री साईं सच्चित्र अध्याय - 2

ॐ सांई राम
आप सभी को शिर्डी के साईं बाबा ग्रुप की और से साईं-वार की हार्दिक शुभ कामनाएं |

हम प्रत्येक साईं-वार के दिन आप के समक्ष बाबा जी की जीवनी पर आधारित श्री साईं सच्चित्र का एक अध्याय प्रस्तुत करने के लिए श्री साईं जी से अनुमति चाहते है |

हमें आशा है की हमारा यह कदम घर घर तक श्री साईं सच्चित्र का सन्देश पंहुचा कर हमें सुख और शान्ति का अनुभव करवाएगा| किसी भी प्रकार की त्रुटी के लिए हम सर्वप्रथम श्री साईं चरणों में क्षमा याचना करते है|


ग्रन्थ लेखन का ध्येय, कार्यारम्भ में असमर्थता और साहस, गरमागरम बहस, अर्थपूर्ण उपाधि हेमाडपन्त, गुरु की आवश्यकता । ---------------------------
गत अध्याय में ग्रन्थकार ने अपने मौलिक ग्रन्थ श्री साई सच्चरित्र (मराठी भाषा) में उन कारणों पर प्रकाश डाला था, जिननके दृारा उन्हें ग्रन्थरतना के कार्य को आरन्भ करने की प्रेरणा मिली । अब वे ग्रन्थ पठन के योग्य अधिकारियों तथा अन्य विषयों का इस अध्याय में विवेचन करते हैं ।


Wednesday, 4 April 2012

ना मैं जप जानूं ना मैं तप जानूं

ॐ सांई राम
ना मैं जप जानूं ना मैं तप जानूं
तेरे चरणों में ध्यान लग जाए
तो में तर जाऊं,
साईं तर जाऊं,
हे साईं तर जाऊं

Tuesday, 3 April 2012

कर ले साईं भजन अनमोल

ॐ सांई राम



साईं बोल साईं बोल साईं बोल साईं बोल
कर ले  साईं भजन अनमोल
कर ले साईं भजन अनमोल

तन मन में बसा मेरा साईं राम

ॐ सांई राम

तन मन में बसा मेरा साईं राम ...

Monday, 2 April 2012

ओ सुख नहियों चाही दा जो, तेरे चरणां तों दूर लै जावे

ॐ सांई राम


 ओ  सुख नहियों चाही दा जो,  तेरे चरणां तों दूर लै  जावे

साईं मैनू नाम कमावन दी आस नहीं कोई

डर लगदा ए साईं दास तेरा, तेरे हिक नालों दूर न हो जावे

ओ  सुख नहियों चाही दा जो,  तेरे चरणां तों दूर लै  जावे


Sunday, 1 April 2012

रामनवमी उत्सव व मसजिद का जीर्णोदृार, गुरु के कर-स्पर्श की महिमा, रामनवमी उत्सव, उर्स की प्राथमिक अवस्था ओर रुपान्तर एवम मसजिद का जीर्णोदृार


ॐ सांई राम

रामनवमी उत्सव व मसजिद का जीर्णोदृार, गुरु के कर-स्पर्श की महिमा, रामनवमी

उत्सव, उर्स की प्राथमिक अवस्था ओर रुपान्तर एवम मसजिद का जीर्णोदृार

गुरु के कर-स्पर्श के गुण
जब सद्गुरु ही नाव के खिवैया हों तो वे निश्चय ही कुशलता तथा सरलतापूर्वक इस भवसागर के

माँ सिद्धिदात्री

ॐ सांई राम 
या देवी सर्वभू‍तेषु शक्ति रूपेण संस्थिता।
नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमस्तस्यै नमो नम:।।

नवदुर्गाओं में माँ सिद्धिदात्री अंतिम हैं। अन्य आठ दुर्गाओं की पूजा

For Donation

For donation of Fund/ Food/ Clothes (New/ Used), for needy people specially leprosy patients' society and for the marriage of orphan girls, as they are totally depended on us.

For Donations, Our bank Details are as follows :

A/c - Title -Shirdi Ke Sai Baba Group

A/c. No - 200003513754 / IFSC - INDB0000036

IndusInd Bank Ltd, N - 10 / 11, Sec - 18, Noida - 201301,

Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh. INDIA.