शिर्डी के साँई बाबा जी की समाधी और बूटी वाड़ा मंदिर में दर्शनों एंव आरतियों का समय....

"ॐ श्री साँई राम जी
समाधी मंदिर के रोज़ाना के कार्यक्रम

मंदिर के कपाट खुलने का समय प्रात: 4:00 बजे

कांकड़ आरती प्रात: 4:30 बजे

मंगल स्नान प्रात: 5:00 बजे
छोटी आरती प्रात: 5:40 बजे

दर्शन प्रारम्भ प्रात: 6:00 बजे
अभिषेक प्रात: 9:00 बजे
मध्यान आरती दोपहर: 12:00 बजे
धूप आरती साँयकाल: 7:00 बजे
शेज आरती रात्री काल: 10:30 बजे

************************************

निर्देशित आरतियों के समय से आधा घंटा पह्ले से ले कर आधा घंटा बाद तक दर्शनों की कतारे रोक ली जाती है। यदि आप दर्शनों के लिये जा रहे है तो इन समयों को ध्यान में रखें।

************************************

Saturday, 14 January 2012

माथे सोहे चन्दन , गले में पुष्प हार है

ॐ सांई राम
माथे सोहे चन्दन , गले में पुष्प हार है
सजी है कफनी अंग पे ह्रदय में जिसके प्यार है
झुका रहे है शीश सारे भक्त जिनकी भक्ति में
है कोटि देवों का प्रकाश , साईं तेरी शक्ति में
में तो साईं तुझपे जाऊं बलिहारी, दुखहारी
गाये गुण तेरे सृष्टि ये सारी

Thursday, 12 January 2012

श्री साई सच्चरित्र Chapter 40

ॐ सांई राम

आप सभी को शिर्डी के साईं बाबा ग्रुप की और से साईं-वार की हार्दिक शुभ कामनाएं , हम प्रत्येक साईं-वार के दिन आप के समक्ष बाबा जी की जीवनी पर आधारित श्री साईं सच्चित्र का एक अध्याय प्रस्तुत करने के लिए श्री साईं जी से अनुमति चाहते है , हमें आशा है की हमारा यह कदम घर घर तक श्री साईं सच्चित्र का सन्देश पंहुचा कर हमें सुख और शान्ति का अनुभव करवाएगा, किसी भी प्रकार की त्रुटी के लिए हम सर्वप्रथम श्री साईं चरणों में क्षमा याचना करते है...

श्री साई सच्चरित्र - अध्याय 40 - श्री साईबाबा की कथाएँ

Wednesday, 11 January 2012

तू ही साईं राम है तू ही साईं शाम है

ॐ सांई राम

तू ही साईं राम है तू ही साईं शाम है

तू है चारों धाम में , तुझमे चारों धाम है

भर दो अब साईं नाथ मेरी झोली खाली

ॐ सांई राम

भर दो अब साईं नाथ -मेरी झोली खाली

मन मंदिर में प्रेम जगा दे, शिर्डी वासी

Tuesday, 10 January 2012

SHIRDI SAIBABA PREACHED HARMONY AMONGST HINDUS & MUSLIMS

ॐ सांई राम


Sai Baba wanted peace and harmony amongst His devotees, whether they were Hindus, Muslims, Parsees or any other caste or religion. Once the Muslims were offering 'namaz' in Dwarkamai. Simultaneously, the Hindus were performing Bhajans, accompanied with musical instruments. The Muslims complained to Baba about this, saying that it was a hindrance to their worship. Baba, however, said, "Those who pray sincerely with concentration will not find any hindrance. So those who want to do 'namaz' devotedly may do so, and the rest may leave."

Monday, 9 January 2012

साईं तेरे चरणों में दो फूल मै लाया हूँ

ॐ सांई राम
 
साईं तेरे चरणों में

बाबा तेरे चरणों में

दो फूल मै लाया हूँ

बड़ी श्रद्धा से लाया हूँ

For Donation

For donation of Fund/ Food/ Clothes (New/ Used), for needy people specially leprosy patients' society and for the marriage of orphan girls, as they are totally depended on us.

For Donations, Our bank Details are as follows :

A/c - Title -Shirdi Ke Sai Baba Group

A/c. No - 200003513754 / IFSC - INDB0000036

IndusInd Bank Ltd, N - 10 / 11, Sec - 18, Noida - 201301,

Gautam Budh Nagar, Uttar Pradesh. INDIA.